ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
त्यौहार के मद्दे नज़र परिवहन ने रद्द की छुट्टियां
August 8, 2019 • राहुल यादव
लखनऊ।
 रक्षाबन्धन  के त्यौहार के पर्व पर परिवहन व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए उ0प्र0 परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक, डा0 राज शेखर, ने 13.08.2019 से  18.08.2019 तक की अवधि में अधिक से अधिक बसें संचालित किये जाने के निर्देश जारी किये है।

इस अवधि में शत् प्रतिशत बसों को आनरोड किया जाये, इसके लिए आवश्यक कल पुर्जे एवं एसेम्बलीज की व्यवस्था पूर्व से यथाआवश्यकता अनुसार कर ली जाये। मृत्यु या बीमारी जैसी अति विशिष्ट परिस्थितियों को छोड़कर बस संचालन से संबंधित अधिकारियों, पर्यवेक्षको  व चालकों व   परिचालकों एवं अन्य कर्मचारियों को इस अवधि में  कोई भी अवकाश व साप्ताहिक विश्राम व डीडीआर स्वीकृत नहीं दिया जायेगा। कोई अधिकारी अपना कार्य क्षेत्र इस अवधि में नही छोडे़गा। उल्लिखित अवधि में चालकों व परिचालकों कार्यशाला व संचालन शाखा के कर्मचारियों व पर्यवेक्षकों को ड्यूटी रोस्टर तैयार कर उसे अवगत कराते हुए नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर दिया जाये। विगत वर्षो की भंाति क्षेत्रों के सम्बन्धित यात्रियों की उपलब्धता के अनुसार दिल्ली, लखनऊ व कानुपर के लिए अतिरिक्त सेवायें संचालित की जाएंगी। इस अवधि में मार्गों की सघन चेकिंग करायी जाये तथा निरीक्षण दल यह सुनिश्चित करें कि मार्ग पर बसों की उपलब्धता मॉग के अनुरूप है अन्यथा  की दशा मंे तत्काल सम्बन्धित क्षेत्र को सूचित करें। समस्त बस क्रू को निर्देशित किया जायेगा कि वे सभी स्टापेजों से यात्री उठायें। बस अड्डों पर यात्रियों की भीड़ के दृष्टिगत त्योहार की अवधि में बस स्टेशनों पर पर्यवेक्षक की उपस्थिति निरन्तर बनी रहे तथा डिपो एवं क्षेत्रीय अधिकारी भी बस स्टेशन पर उपस्थित रहकर बसों एवं यात्री सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगें। पश्चिमी क्षेत्रों यथा मेरठ, अलीगढ़, सहारनपुर, आगरा एवं गाजियाबाद के कौशाम्बी, आनन्द विहार, आई0एस0बी0टी0, कशमीरी गेट तथा सरांय काले खंा बस स्टेशनों में एक-एक तथा लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर व इटावा क्षेत्रांे से भी एक-एक केन्द्र प्रभारी आनन्द विहार बस स्टेशन दिल्ली में भेजा जायेंगे। इन केन्द्र प्रभारियों का दायित्व होगा कि वे अपने-अपने क्षेत्रों की बसों का संचालन सुव्यवस्थित ढंग से करायें। इसी प्रकार लखनऊ व कानपुर में भी सम्बन्धित क्षेत्र की आवश्यकतानुसार पर्यवेक्षक राउन्ड द क्लॉक तैनात किये जायें जो बसों के संचालन पर समुचित नियंत्रण रखेगें।

सभी क्षेत्रीय प्रबन्धक गाजियाबाद, लखनऊ एवं कानपुर के सम्पर्क में रहते हुए उनकी मॉग के अनुरूप बसों की उपलब्धता सुनिश्चित करायेगें।

दिनांक-13 से  18.08.2019 तक 06 दिन की अवधि में निगम के बस संचालन में अधिकतम वृद्धि तथा आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से विशेष प्रोत्साहन योजना लागू की गयी है। ऐसे चालक व परिचालक जिसमें संविदा के चालक व परिचालक भी शामिल होंगे, जो न्यूनतम 06 दिवसों में उपस्थित होकर दैनिक रूप से बस संचालन करते हुये लक्ष्य को प्राप्त करेगें तथा डिपों एवं क्षेत्रीय कार्याशाला के तकनीकी कर्मचारी जो इस अवधि में प्रत्येक दिन उपस्थित होगें उन्हें विशेष प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत पुरूस्कृत किया जायेगा। ग्रामीण (अर्न्तजनपदीय) 06 दिन की अवधि में न्यूनतम 1800 किलोमीटर के संचालन पर देय प्रोत्साहन की धनराशि रू0 1200/-, उपनगरीय 06 दिन की अवधि में न्यूनतम 1500 किलोमीटर के संचालन पर देय प्रोत्साहन रू0 1200/- एवं नोएडा व ग्रेटर नोएडा डिपो, नोएडा क्षेत्र 06 दिन की अवधि में न्यूनतम 1500 किलोमीटर के संचालन पर देय प्रोत्साहन की धनराशि रू0 1200/प्रोत्साहन के रूप में दी जायेगी। बस स्टेशनों पर रक्षाबन्धन के पर्व पर तैनात किये गये कार्मिकों व पर्यवेक्षकों के लिये गाजियाबाद क्षेत्र को रू0 15,000/- तथा मुरादाबाद, मेरठ, बरेली एवं लखनऊ को रू0 10,000/- एवं सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, कानपुर, इटावा क्षेत्रों को रू0 5,000/- की धनराशि बस स्टेशनों की संख्या के दृृष्टिगत स्वीकृति प्रदान की जाती है।
संविदा चालकों व परिचालकों को इस अवधि में 1800 कि0मी0 से अधिक कि0मी0 अर्जित करने पर अतिरिक्त कि0मी0 पर अतिरिक्त रूप से 55 पैसे प्रति कि0मी0 देय होगा। उपनगरीय डिपो, ललखनऊ क्षेत्र एवं नोएडा व ग्रेटर नोएडा डिपो, नोएडा क्षेत्र के संविदा चालकों व परिचालकों को इस अवधि में 1500 कि0मी0 से अधिक कि0मी0 अर्जित करने पर अतिरिक्त कि0मी0 पर अतिरिक्त रूप से 55 पैसा प्रति कि0मी0 देय होगा। इसका भी भुगतान स्थानीय रूप से उपरोक्तवत् कर दिया जाये।
डिपो एवं क्षेत्रीय कार्यशाला के जो तकनीकी कर्मचारी इस अवधि में प्रत्येक दिन उपस्थित होते हैं, उन्हें एक मुश्त रू0 500/- का प्रोत्साहन देय होगा।

इस के अतिरिक्त यात्रियों की संख्या को देखते हुये यदि प्रोत्साहन की अवधि बढ़ाये जाने की आवश्यकता हो तो क्षेत्रीय प्रबन्धक प्रोरेटा के आधार पर अवधि दो दिन (02) के लिये विस्तारित कर सकते है।