ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
नितिन गड़करी ने की विकास और प्रगति की बात
May 5, 2019 • ASHOK YADAV
 नितिन गड़करी ने की विकास और प्रगति की बात 
 
केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सड़क परिवहन, विमानन, जलमार्ग, जल संसाधन, कृषि, रक्षा जैसे सभी क्षेत्रों में विकास के नए आयाम स्थापित किए हैं। वहीं देश के आम नागरिक के कल्याण को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बनाई हैं। कांग्रेस ने जो काम 50 सालों में नहीं किया हमारी सरकार ने पांच साल में किया है। अगले पांच सालों में हमारी योजनाओं के वास्तविक परिणाम धरातल पर दिखाई देंगे। यह बात केन्द्रीय सड़क परिवहन, जलमार्ग, जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गड़करी ने रविवार को भोपाल में भाजपा कार्यालय में प्रेस से चर्चा करते हुए कही। 
 गड़करी ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव कांग्रेस के घोटालों के प्रति असंतोष और भाजपा व मोदी के प्रति आशा, अपेक्षा और आकांक्षा पर आधारित था। उन्होंने कहा कि 2014 में जनता ने हमें चुना और जनता की अपेक्षाओं पर खरे उतरे। पांच सालों में हमने विविध क्षेत्रों में कई उल्लेखनीय काम किए। गड़करी ने बताया कि पांच साल में देश में 100 नए विमानतल बने हैं। क्षेत्रीय एयरलाइंस कनेक्टिविटी आई है और एविएशन सेक्टर में बहुत बड़ा परिवर्तन हुआ है। सड़क क्षेत्र में पहले कुल 96 हजार किमी राजमार्ग था अब देश में 52 लाख किमी राजमार्ग है। हमारी सरकार ने 96 किमी के राजमार्ग को बढ़ाकर 1 लाख 47 हजार किमी किया है। 
पहले 2 किमी प्रतिदिन राजमार्ग निर्माण हो रहा था आज 32 किमी प्रतिदिन हो रहा है। उन्होंने बताया कि 1956 से 2014 तक 5186 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग था। 2018 तक 13248 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग भाजपा की सरकार ने बनाया। उन्होंने बताया कि मप्र सहित पूरे देश में हम कई एक्सप्रेस हाईवे बना रहे हैं, जिससे आवागमन भी सुगम हो रहा है। विकास की गति भी तेज हो रही है। लोगों का जीवन बदल रहा है। 
भारत का भविष्य बदल देगी जलमार्ग योजना
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि जलमार्ग एक नई संकल्पना थी। किसी को इस पर विश्वास नहीं था। हमने 20 हजार किमी नदी क्षेत्र को जलमार्ग में परिवर्तित करने का निर्णय लिया और पहला जलमार्ग वाराणसी से हल्दिया 1600 किमी क्षेत्र में पूरा किया। इनमें गाजीपुर, वाराणसी, हल्दिया सहित चार मल्टी मॉडल हब हैं। 9 जगह पर रोड़ों से एक जहाज में 15-20 गाडिय़ां, 10-15 बसें, तीन रेस्टोरेंट आदि होंगे जो तीन जगह शुरू हो चुके हैं।  गडकरी ने बताया कि 5 एवं 7 स्टार क्रू लाए हैं। इस साल गंगा में 80 लाख टन माल ट्रांसपोर्ट हुआ है। लोगों को सपना लगता था वह पूरा हुआ है। 
नदियों को कर रहे हैं निर्मल
 गडकरी ने बताया कि कुंभ में इस बार करोड़ों लोग गए। पहली बार गंगा अविरल और निर्मल थी। 26 हजार करोड़ के प्रोजक्ट गंगा में चल रहे हैं। गंगा की 40 उप नदियों में भी हमने काम किया है। यमुना पर दिल्ली में 5 हजार करोड़ के 11 प्रोजक्ट पर काम चल रहा है। मथुरा, इटावा, आगरा, काली नदी, रामगंगा सभी जगह काम चल रहा है। 
गंगा पर शुद्ध जल के 11 प्रोजक्ट
गड़करी ने कहा कि मैं शौचालय का पानी बेचने में विशेषज्ञ हूँ। हिन्दुस्तान में मैं पहला व्यक्ति हूँ कि नागपुर में शौचालय का पानी 180 करोड़ में बेचा। गंदे पानी से मीथैन और कार्बन डाई ऑक्साईड अलग करके 200 बसें नागपुर में चल रही हैं। पहली बार मथुरा में 20 करोड़ रुपये में पानी इंडियन ऑयल को बेचा। इस तरह हमारे 30 प्रतिशत परियोजनाएं अभी पूरी हुई हैं। नागपुर में सात, प्रयागराज में 9 पाटना में 13 हैं, सभी प्रोजक्ट पर काम चालू हैं। 
दिल्ली से म्यामार, बंगाल और चायना की सीमा तक जलमार्ग
 गड़करी ने बताया कि दिल्ली से यमुना से इलाहाबाद का प्रोजक्ट मुझे मिला है। दिल्ली से मथुरा, से आगरा, से इटावा से इलाहाबाद यह पूरा करेंगे तो दिल्ली में माल डालेंगे तो बांग्लादेश, म्यामार और चायना नॉर्थ ईस्ट तक पानी में जाएगा। इसमें पूरा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल, दिल्ली से कबर होगा। रोड से जाने में 10 रुपये खर्च, रेलवे से 6 रुपये खर्च, और पानी से सिर्फ एक रुपये खर्च आएगा।पूरी अर्थ व्यवस्था बदल जाएगी। 20 हजार करोड़ की रिवर लाइन पहली बार हमारी सरकार ने दी। उन्होंने बताया कि पोर्ट सात हजार करोड़ के फायदे में । पहली बार प्रायवेट पोर्ट को खरीदना हमारे महाराष्ट्र में खरीदा, एयर इंडिया की इमारत खरीदी। 
कृषि क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि
कृषि क्षेत्र की उपलब्धि बाते हुए  गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री सिंचाई योजना में पहली बार मप्र को 21 प्रोजक्ट के लिए पैसा मिला। 1 करोड़ 88 लाख हेक्टेयर जमीन सिचिंत करने के लिए पाईप लाइन का उपयोग सरकार ने किया। पेट्रोल-डीजल अब किसान तैयार करेगा। योजना बनाई 26 जनवरी को हेलीकॉफ्टर ऑर हवाई जहाज बायोईधन से उड़े। स्पाई जेट भी देहरादून से दिल्ली बायोईधन से उड़ाया गया। इथनॉल के पांच तरह के प्रोसेस को हमने अनुमति दी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना को 11 हजार करोड़ से बढ़ाकर दो लाख करोड़ बनाने की योजना है। 
इथैनॉल से बनाएंगे बायो प्लास्टिक
 गड़करी ने बताया कि अभी हम 10 लाख करोड़ का प्लास्टिक आयतित करते हैं। अब इथैनॉल से बायोप्लास्टिक बनाने की योजना है। इसमें किसानों के लिए काफी रोजगार की संभावना है। 
हवा में दौड़ेगी डबल डेकर बस
 गड़करी ने बताया कि हवा में चलने वाली डबल डेकर बस लाने की योजना तैयार है। इस बस में 260 लोग बैठ सकेंगे। मैट्रो की कीमत 300 करोड़ रुपये प्रति किमी आती है। जबकि बस की कीमत 50 करोड़ रुपये प्रति किमी आएगी वह भी पीपीपी मॉल पर लाई जा सकती है। गड़करी ने कहा कि हम विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंग। अगले पांच साल में हमारी असली फिल्म शुरू होगी।