ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
बच्चों के अपहरण के बाद हत्या की पुनरावृत्ति के लिए सरकार जिम्मेदार: राकेश सिंह
August 18, 2019 • राहुल यादव

भोपाल। प्रदेश में लगातार मासूमों के अपहरण और उसके बाद हत्या जैसी जघन्य घटनाएं हो जाती हैं, लेकिन प्रदेश सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है। एक बार फिर मासूम का अपहरण हो जाने के दो दिन बाद उनकी लाशे मिलती हैं। पुलिस प्रशासन अगर समय रहते कार्रवाई करता तो मासूम को सुरक्षित बचाया जा सकता था, लेकिन हमेशा की तरह पुलिस मासूम की लाश मिलने के बाद हरकत में आई। यह पुलिस प्रशासन अकर्मण्यता और लापरवाही का जीता-जागता उदाहरण है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने अमरपाटन में 13 वर्षीय मासूम विकास प्रजापति के अपहरण और उसके बाद हत्या की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि 6 माह पूर्व चित्रकूट में श्रेयांश और प्रियांश के बाद भोपाल में हुई मासूम की हत्या में भी यही सब हुआ । फिर अमरपाटन में यह पुनरावृत्ति हुई है। एक घटना के बाद लगातार दूसरी और तीसरी घटना का घट जाना सरकार की कानून व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह खड़े करता है। 
मासूमों की लाश के बाद ही पुलिस जागृत होती है
राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में लगातार अपराध बढ़ रहे हैं। अपराधी बेखौफ हैं। घटनाएं घट जाती हैं और सरकार उसके बाद जांच में लगी रहती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में यह क्या हो रहा है, नई सरकार आने के बाद बच्चों के अपहरण और हत्या की घटनाएं बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस अपहरण की घटनाओं में समय रहते कार्रवाई करती तो मासूमों को सकुशल बचाया जा सकता था। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में जुड़वा बच्चों के अपहरण और हत्या की दर्दनाक घटना से सरकार सबब नहीं ले पाई, उसके बाद भोपाल में राजधानी होने के बावजूद इसी प्रकार का नृशंस हत्याकांड हुआ। अमरपाटन में फिर दुर्दांत तरीके से मासूम को मार दिया गया।
मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था सुधारने के लिए कड़े कदम उठाए
राकेश सिंह ने कहा कि हमारी सरकार के समय अपहरण, फिरौती और हत्या जैसी घटनाओं पर अंकुश लगा हुआ था। लेकिन कांग्रेस सरकार आते ही आपराधिक घटनाओं में बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अगर समय रहते इस समस्या का समाधान नहीं किया तो प्रदेश की स्थिति भयावह हो जाएगी।  सिंह ने कहा कि प्रदेश में दिनदहाड़े बच्चों के अपहरण और उनकी हत्याएं हो जाती हैं। इससे दुर्भाग्यपूर्ण कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि उन माॅ-बाप की स्थिति हम समझ सकते हैं, जिनके बच्चों के साथ ऐसा होता है। जरूरत इस बात की है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी सरकार भी इसे समझे और कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए तत्काल कदम उठाए। हम सरकार को चेतावनी देना चाहते हैं कि उसकी इस प्रकार की धींगामस्ती और लापरवाही क्षमा करने योग्य नहीं है ।यदि तबादलों की मानसिकता से बाहर आकर शीघ्र कठोर निर्णय नहीं किए गए तो भारतीय जनता पार्टी कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेश भर में सरकार को जवाब देगी।