ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
महाप्रबंधक सहित उत्तर मध्य रेलवे   के कई अधिकारी व कर्मचारी होंगे सम्मानित
July 12, 2019 • राहुल यादव

   प्रयागराज।   उत्तर मध्य रेलवे के वित्तीय वर्ष 2018-19 में सभी मानवरहित समपारों को समाप्त करने एवं कुम्भ मेला 2019 के सफल अयोजन को रेल मंत्री की सराहना मिली है। 21 जुलाई को अम्बाला में आयोजित होने वाले 64वें रेल सप्ताह समारोह के अवसर पर महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे राजीव चौधरी तथा मुख्यालय एवं इलाहाबाद मण्डल के अधिकारियों को सम्मानित किया जायेगा। उन्हें ये सम्मान उत्तर मध्य रेलवे के सभी मानव रहित समपार फाटको को रिकार्ड समय में समाप्त करने के लिये दिया जा रहा है। गौरतलब है कि उत्तर मध्य रेलवे ने वर्ष 2018-19 में 82 मानवरहित क्रासिंगों को समाप्त किया था।  

      इसी क्रम में वर्ष 2018-19 में सर्वाधिक विद्युतीकरण के लिये सेवानिवृत्त प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर, उत्तर मध्य रेलवे नसीमुद्दीन को सम्मानित किया जायेगा। कुम्भ मेला - 2019 से सम्बंधित कार्यों को समय से पूरा करने और इस महापर्व के सफल आयोजन के लिये तत्कालीन अपर मण्डल रेल प्रबंधक, इलाहाबाद मण्डल अनिल कुमार द्विवेदी, वरिष्ठ मण्डल कार्मिक अधिकारी,  अभिषेक रंजन, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर व ब्रिज लाइन जगजीत सिंह तापडिया, मण्डल परिचालन प्रबंधक व कोचिंग, अकांशू गोविल, वरिष्ठ मण्डल पर्यावरण एवं हाउस कीपिंग प्रबंधक, शिव सिंह, मण्डल चिकित्सा अधिकारी, डा. परवेज अहमद,वरिष्ठ मण्डल वाणिज्य प्रबंधक, नवीन दीक्षित,वरिष्ठ मण्डल सुरक्षा आयुक्त, अमरेश कुमार, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर व सामान्य, प्रवीन कुमार यादव, मण्डल इंजीनियर व  सम्पदा इंदर पाल सिंह यादव सहित राहुल चौधरी, शैलेंद्र कुमार, अजीत कुमार, पी.के.ओझा, जीत नारायन बिंद एवं प्रमोद कुमार को भी सम्मनित किया जायेगा|   

      इस उपलब्धि पर बोलते हुए महाप्रबन्धक राजीव चौधरी ने बताया कि उत्तर मध्य रेलवे ने सभी मानवरहित समपारों को समाप्त करने, विद्युतीकरण एवं कुम्भ मेला 2019 के सफल आयोजन एवं विभिन्न क्षेत्रों में सुधार के लिए निरन्तर कठिन परिश्रम किया है, जिसके परिणाम स्वरूप हुए उल्लेखनीय सुधारों का संज्ञान शीर्ष स्तर पर लिया गया है। उन्होंने बल दे कर कहा कि इस उपलब्धि का श्रेय हमारी 65,000 की संख्या वाली 'टीम एन.सी.आर.' के अधिकारियों व कर्मचारियों को जाता है, जिन्होंने अपने पूरे मन एवं समर्पण से अपने कार्यों को निष्पादित किया है।