ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
दीनदयाल समितियों के माध्यम से करेंगे मॉनिटरिंग - शिवराज सिंह चौहान
April 29, 2020 • राहुल यादव
  • कोई भूखा न सोएं इस बात की चिंता करें :- शर्मा

 

  • सहायता और सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहे कार्यकर्ता :- भगत

      भोपाल। कोरोना संकट के समय प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम सभी कोरोना की जंग लड़ रहे है। केंद्र और राज्य सरकार दिन रात संकट से जनता को बचाने के लिए लगातार काम कर रही है। भाजपा कार्यकर्ताओ के नाते समाज के प्रति हमारी भी जिम्मेदारी है। हम सब मिलकर सरकार के कामों को नीचे तक पहुंचाने के लगे है उन प्रयासों को ओर गति देना है। हम भरपूर प्रयास करेंगे और सरकारों के बेहतर से बेहतर फैसलों से कोरोना पर विजय पाने में कामयाब होंगे। यह बात मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष, सांसद  विष्णु दत्त शर्मा एवं प्रदेश संगठन महामंत्री  सुहास भगत ने बुधवार को भाजपा के मंडल अध्यक्ष जिला अध्यक्ष प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवं प्रमुख कार्यकर्ताओं से ऑडियो ब्रिज में संबोधित करते हुए कही।

      कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष सांसद  विष्णु शर्मा एवं संगठन महामंत्री  सुहास भगत प्रतिदिन जनप्रतिनिधि, कार्यकर्ताओं और समाज के प्रबुद्ध जनों संवाद कर रहे हैं। बुधवार को देर शाम ऑडियो ब्रिज के माध्यम से नेतागणों ने मंडल अध्यक्षों और मीडिया प्रभारियो से इस कठिन  समय में कोरोना को हराने के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार के निर्णयों को बूथ स्तर पर जनता तक पहुँचाने के लिए कमर कसने का आह्वान किया।

      मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मानवता के इतिहास का सबसे बड़ा संकट कोरोना बना है। इससे हमें मिलकर डटकर लड़ना है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने योजनाओं के माध्यम से राहत कार्यो में लगी है।  संकट के ऐसे समय में योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, उसके लिए हम ग्राम पंचायत स्तर और वार्ड स्तर तक दीनदयाल समितियां बना रहे हैं। ये मॉनिटरिंग के साथ वितरण के कार्य में भी सहयोग करेंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं हर वर्ग के लिए योजना बनाकर काम कर रही है। प्रदेश में कोई भूखा न सोये, इसकी व्यवस्था करने की हमने कोशिश की है। गरीबों को तीन महीने का राशन पहले ही दिया जा चुका है, अब और दो महीने का राशन देने का काम प्रारम्भ हो गया है। सरकार और पूरा प्रशासन काम कर रहा है। फिर भी कही कोई कमी न हो इसके लिए पार्टी कार्यकर्ता मॉनिटरिंग करें और कहि कोई कमी होतो उसका फीडबैक दे। हम व्यवस्थाओं में सुधार कर जनता को बेहतर सरकार देंगे।

      प्रदेश अध्यक्ष  विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि सरकार और संगठन हर गरीब तक पहुँचने का काम कर रहा है फिर भी कुछ ऐसे लोग हैं जो पैदल ही अपने घर की और निकल चुके हैं। ऐसे लोग जिनके पास अभी तक कोई नहीं पहुंचा है उन तक हमको पहुँचना है। कोई भी भूखा न सोए इस बात की चिंता हमें करना है। मध्यम वर्ग परिवारों की चिंता भी हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जब मध्य प्रदेश में कोरोना आया तो हमारी सरकार नहीं थी। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने चिंता नहीं की और लगातार आईफा आयोजन की चिंता करती रही। क्योंकि उनकी प्राथमिकता में जनता नही आईफा था। कोरोना को लेकर तत्कालीन सरकार ने एक भी बैठक नही की। 23 मार्च को शपथ ग्रहण करते ही मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने सबसे पहले कोरोनो के संदर्भ में अधिकारियों की बैठक ली। उसके बाद से लगातार उनके नेतृत्व में सरकार स्थिति को नियंत्रित कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी  और मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान जी मेहनत कर रहे है। हमे उनके साथ सेवा कार्यो में जुटना है। प्रधानमंत्री  और राष्ट्रीय अध्यक्ष  ने जो आव्हान किया है उसे बूथ स्तर तक पहुँचाने में हमारी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है।

      प्रदेश संगठन मंत्री सुहास भगत में कहा कि भारत की जनता पार्टी की पहचान पार्टी विद डिफरेंस के रूप में होती है इस संकट काल के समय अगर कोई राजनीतिक दल सेवा के लिए निकला है तो वह भारतीय जनता पार्टी है। मंडल स्तर और बूथ स्तर तक पहुंचकर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सेवा कार्य में लगे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  के नेतृत्व में केंद्र सरकार और प्रदेश में मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में सारे मंत्री गण और अधिकारीगण परिश्रम कर रहे है। भाजपा कार्यकर्ता भी सेवा प्रकल्पों के माध्यम से गरीबों की सेवा कर रही है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आव्हान करते हुए कहा कि हमने अभी तक परिश्रम की पराकाष्ठा की है।लेकिन हमें यहीं पर थकना और रुकना नहीं है। हमें ओर आगे बढ़ना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  और राष्ट्रीय अध्यक्ष  ने जो आव्हान किया उसे जन-जन तक पहुंचाना है।  भगत ने नितांत गरीब जो अपने घर के लिए पैदल निकले है उनके भोजन की विशेष चिंता करने की बात कही।