ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
हिन्दू लड़कियों को अपहरित करने वाले दो जेहादियों समेत तीन गिरफ्तार
January 29, 2020 • राहुल यादव

 

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। पाकिस्तान में इस्लामी जेहादियों द्वारा जोर-जुर्म से हिन्दू लड़कियों को मुस्लिम लड़कों के साथ निकाह करा के इस्लाममीकरण कराने की खबर आम है लेकिन इस अभियान को यदि भारत मे किया जा रहा हो, वह भी योगी के राज्य में तो सुनने वालों को हैरत होगी।लेकिन इस तरह की खबर उत्तर प्रदेश से आयी है। बलिया के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र से हिदू नाबालिग लड़कियों को बहला-फुसला के अपरहित कर ले जाने और धर्मांतरण कराकर निकाह पढ़ाने का मामला प्रकाश में आया है। इससे क्षेत्र में खलबली मच गई है। सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के कस्बे से 25 जनवरी को दो हिदू नाबालिग लड़कियों को आसिफ कुरैसी उर्फ चुन्नी द्वारा बहला-फुसलाकर भगा ले गया था। हिदू लड़कियों के परिजनों का आरोप है कि सिकंदरपुर में एक संगठित गिरोह काम कर रहा है जो नाबालिग हिन्दू लड़कियों को बहला-फुसलाकर ले जाकर धर्म परिवर्तन करा रहा है। सिकंदरपुर के दो लोगों ने 26 जनवरी को प्रभारी चौकी सिकंदरपुर अमरजीत यादव को प्रार्थना पत्र देकर अपने-अपने बेटियों को कस्बे के ही कुछ मुस्लिम युवकों द्वारा बहला फुसलाकर भगा कर ले जाने का आरोप लगाया था। इस पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक आरोपी व दोनों नाबालिग लड़कियों को बेल्थरा रोड से बरामद कर लिया। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुट गई। नाबालिक लड़कियों का कहना है कि हम लोग गांधी इंटर कॉलेज सिकंदरपुर में हाई स्कूल में पढ़ते हैं। 25 जनवरी को हम दोनों स्कूल जा रहे थे।तभी कस्बे के आसिफ कुरेशी उर्फ अलीउल्ला और ऐहशानुद्दीन उर्फ चुन्ना  वहाँ पहुंचकर कुछ सुंघा कर हम लोगों को लेकर जाने लगे। इसके बाद कुछ याद नहीं है। हम लोग जब होश में आए तो बेल्थरा रोड पर पहुंच चुके थे। उसके बाद हम लोग अपने घर जाने की जिद करने लगे। अपना मोबाइल मांगने लगे तो हम दोनों को मारा पीटा गया। किसी प्रकार पुलिस बेल्थरा रोड से हम लोगों को लेकर के सिकंदरपुर आई हैं। चौकी प्रभारी अमरजीत यादव ने दोका सामना को बताया कि दोनों लड़कियों को बेल्थरा रोड से बरामद कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। इस मामले में आसिफ कुरैशी उर्फ अलीउल्ला, ऐशननुद्दीन उर्फ चुन्ना तथा सूरज की गिरफ्तारी की गयी है। पूरे प्रकरण की जानकारी उच्चाधिकारियों को दे दी गई है।