ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में कर्फ्यू जैसी शख्ती होगी
April 8, 2020 • मनोज श्रीवास्तव
  • यूपी ने बिना मुंह ढके निकले तो हो सकती है कार्रवाई-अवनीश अवस्थी

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।उत्तर प्रदेश के अपरमुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि जिन जिलों में हॉट स्पॉट के कारण सील करने की घोषणा की गयी है उन 15 जिले पूरी तरह सील किया जायेगा। प्रदेश में कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाये घर से बाहर नहीं निकले, यदि कोई बिना मास्क लगाये निकला तो उसके विरुद्ध कार्रवाई भी हो सकती है।सूत्रों के अनुसार जहाँ एक साथ 5 से अधिक कोरोना के मरीज मिले हैं उन स्थानों को "हॉट स्पॉट" घोषित किया गया है। यही कोरोना संभावित क्षेत्र पूरी तरह सील होगा। इन स्थानों को विशेष रूप से सैनेटाइज किया जाएगा। इन क्षेत्रों में न कोई बाहर निकलेगा न ही कोई प्रवेश कर पायेगा। यहां लॉक डाउन को 100%लागू किया जाएगा। हॉट स्पॉट वाले क्षेत्र में जनता को दवा, दूध, राशन व अन्य आवश्यक सामग्री की घरों में प्रशासन आपूर्ति करायेगी। उन्होंने कहा कि संक्रमित स्थान के अगल बगल के लोगों को भी कोरेंटइन किया जायेग। पूरे क्षेत्र को फायर ब्रिगेड की गाड़ियों से सैनेटाइज किया जाएगा। इन क्षेत्रों के बैंक, राशन की दुकान, मेडिकल स्टोर भी नहीं खुलेंगे। इन क्षेत्रों में मीडिया के भी प्रवेश पर प्रतिबंधित किया गया है। अपरमुख्य सचिव ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि हॉटस्पॉट वाले इलाकों में सख्ती की जाएगी। इलाकों में सेनेटाइजेशन के साथ ही घर-घर की निगरानी होगी।सील के दौरान पन्द्रहों जिलों के हाटस्पॉट में कर्फ्यू की तरह पालन करना होगा।

सबसे अधिक 

आगरा के 22 स्थानों पर, गाजियाबाद 13, नोएडा 12, कानपुर- 12, लखनऊ12, वाराणसी 4, शामली 3, मेरठ 7, बरेली 1, बुलंदशहर 3, फिरोजाबाद 3, बस्ती 3, सहारनपुर 4,महराजगंज 4,सीतापुर में 1 स्थान को हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित किया गया है। 14  दिन बाद जैसे-जैसे कोरेंटइन का समय पूरा होगा वैसे वैसे स्थितियों की समीक्षा कर लॉक डाउन में ढीला करने पर विचार किया जा सकता है।

सर्वाधिक कोरोना प्रभावित यूपी के15 जिलों के हॉट स्पॉट आज से सील होंगे

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक यूपी में कोरोना पॉजीटिव के 343 मरीज चिन्हित हो चुके हैं। जिसमें 187 तबलीगी जमात से जुड़े लोग हैं। अब तक 26 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। जिन जिलों में कम मरीज होंगे वहां दो जिलों को मिला कर मरीजों को कोरेनटाइन किया जायेगा। 75%ऐसे मरीज हैं जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा।हम 10 हजार मरीजों को एल1, एल2, एल3 लेबल के अस्पतालों में सफलता पूर्वक भर्ती करने की स्थित में हैं। जल्द ही एक साथ 20 हजार मरीज रखने की हमारी व्यवस्था हो जायेगी। अभी हम सात सौ लोगों का रोज टेस्ट कर रहे हैं, कल से 1500 लोगों का रोज टेस्ट होगा। जिन जिलों कोई केश नहीं है वहां भी जांच करेंगे। जब से तबलीगी जमात का केश आना शुरू हुआ था मरीजों की संख्या में उछाल आ गया था। अब उसमें कमीं आयी है। शासन द्वारा जल्द ही यह आदेश जारी हो जायेगा कि यूपी में बाहर निकलने वाले हर आदमी को मुंह ढकना ही पड़ेगा। जब कोरोना का पहला मरीज आया था तब हमारे पास एक भी टेस्टिंग लैब नहीं था। आज 10 लैब है। जल्द ही राज्य के सभी सरकारी 14 मेडिकल कॉलेज में, छः मंडल जहाँ राज्य सरकार का मेडिकल कॉलेज नहीं है, गोंडा में मेडिकल कॉलेज नहीं है, वहां भी टेस्टिंग की व्यवस्था की जाएगी। सरकार के निर्णय जनता के हित में हो रहा है। सब लोगों के हित की बात है, प्रशासन को पब्लिक के सहयोग की जरूरत होगी।तबलीगी जमात के 1268 व्यक्तियों को कोरेंटइन किया गया है। प्रदेश में 10573 लोग चिन्हित किये गए हैं। इसमें 265 यूपी के बाहर के है। उनके राज्यों को सूचित किया गया है। 323 विदेशी तबलीगी जमातियों को कोरेंटइन किया गया है। आज से प्रदेश में 46 लाख 75 हजार लीटर दूध की प्रतिदिन सप्लाई होने लगी है।