ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
कमलनाथ ने माफिया कार्यवाही के नाम पर मचाया सरकारी आतंक : राकेश सिंह
January 24, 2020 • राहुल यादव

इंदौर। अभी तक चोर, लूटेरे, डाकू के कारण आतंक निर्मित होता था। हमने साम्प्रदायिक आतंक सुना, लाल आतंक सुना, जातिय आतंक सुना लेकिन ऐसे आतंक को कभी नहीं सुना जिसे कांग्रेस की सरकार ने मध्यप्रदेश में निर्मित किया है। प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने माफिया कार्यवाही के नाम पर सरकारी आतंक मचा दिया है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता इससे भयभीत होने वाले और डरने वाले नहीं है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने शुक्रवार को इंदौर में कलेक्ट्रेट घेराव आंदोलन में कही। माफिया और अतिक्रमण के नाम पर गरीब जनता और भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाए जाने के विरोध में शुक्रवार को प्रदेश के जिला केन्द्रों पर भारतीय जनता पार्टी ने कलेक्टर कार्यालय का घेराव का प्रदेश सरकार की बदले की कार्यवाही का विरोध किया। इंदौर में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने आंदोलन का नेतृत्व करते हुए हजारो कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तारी दी।

भाजपा सरकार जोडने और कांग्रेस तोडने का काम कर रही है

राकेश सिंह ने आंदोलन को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले एक साल में भय का माहौल है। गरीबों में इस बात का भय है कि कब कौन अधिकारी उनके पास आए और उनसे यह कहने लगे कि आपका घर, मकान, दुकान और सम्मान तोड़ने के लिए आए हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में कई सरकारें आयी और गयी लेकिन मैंने अपने राजनैतिक जीवन में मध्यप्रदेश में पहले कभी इस तरह का माहौल नहीं देखा। राजनैतिक विद्वेष और बदलने की भावना के साथ कार्यवाही हो रही है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने गरीबों के मकान जोडने का काम किया लेकिन कांग्रेस सरकार गरीबों के आशियाने तोडने का काम कर रही है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अवैध निर्माण छोडकर कौन सा माफिया उन्मूलन कर रही सरकार

उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार प्रदेश में डराने और धमकाने की राजनीति कर रही है। भाजपा कार्यकर्ता को डराने के लिए उनके घरों को तोडा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार को अगर माफिया उन्मूलन अभियान चलाना है तो भारतीय जनता पार्टी आपके साथ खडी दिखाई देगी लेकिन जिस तरह माफिया अभियान के नाम पर कांग्रेस नेताओं के अवैध निर्माण को छोडकर सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के मकान और निर्माण तोडे जा रहे है। इस कार्यवाही से मुख्यमंत्री कमलनाथ कौन सा माफिया उन्मूलन कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले एक साल में जनता से किया वादा पूरा नहीं किया है और इसलिए जनता का ध्यान वादों से हटे इसके लिए माफिया कार्यवाही के नाम पर नया शिगूफा छोडा है।

भाजपा कार्यकर्ता टूटने वाला नहीं, देश पर मर मिटने वाला है

राकेश सिंह ने कहा कि कमलनाथ जी आप स्थायी नहीं हो। भय और आतंक का माहौल बनाकर प्रदेश में भाजपा कार्यकर्ताओं को कुचलने और दबाने का काम करोगे यह भूल जाओ, क्योंकि यह भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता है। आप जितना भाजपा कार्यकर्ताओं को तोडने की कोशिश करोगे वह टूटेगा नहीं बल्कि आखिरी सांस तक केवल भारत माता की जय का नारा बुलंद करेगा। पार्टी का कार्यकर्ता डरने वाला नहीं देश के लिए मर मिटने वाला है। यह पीछे नहीं हटेगा।

नड्डा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने पर राकेश सिंह ने दी बधाई

अधिकारी कर रहे वसूली, आम जनता परेशान

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि जब हम सरकार में थे तब हमने भी माफियाओं पर एक समान कार्यवाही की थी। जब भी सही माफियाओं पर कार्यवाही हुई है तब भाजपा ने हमेशा समर्थन किया है, लेकिन प्रदेश सरकार जिस तरीके से बदले की भावना से कार्यवाही कर रही है ऐसी कार्यवाही हमने पहले कभी नहीं देखी। उन्होंने कहा कि मुझे आश्चर्य होता है कि माफिया के नाम पर आम जनता के 70-80 साल पुराने मकान तक तोड़ दिए गए है। आम जनता को माफिया का डर दिखाकर तंग किया जा रहा है। अधिकारी कार्यवाही के नाम पर जनता से वसूली कर रहे है। भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान करने के लिए सरकार माफिया के नाम पर उन पर कार्यवाही कर रही हैं। महाजन ने ब्यावरा की घटना पर कहा कि प्रदेश में तिरंगा लेकर भारत माता की जय बोलने पर अधिकारी स्वयं आमजन को थप्पड मारते है। कलेक्टर को यह अधिकार किसने दिया। उन्होंने कहा कि सरकार और उसके अधिकारी जिस तरीके का व्यवहार कर रहे है उसे भारतीय जनता पार्टी कभी सहन नहीं करेगी। महाजन ने कहा कि केंद्र सरकार ने दो तिहाई बहुमत के साथ सीएए लागू किया है। राज्य सरकार इसे कैसे नहीं मानेगी। संवैधानिक प्रक्रियाओं को प्रदेश की सरकारों को भी मानना पडेगा। उन्होंने कहा कि इस कानून को लेकर कांग्रेस जनता में भ्रम फैला रही है। कांग्रेस को अगर इस कानून में कही कोई कमी दिख रही है तो वह सुप्रीम कोर्ट क्यों नहीं जाती ?

प्रदेश अध्यक्ष के साथ हजारों कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारियां

सभा के पश्चात् कलेक्ट्रेट के सामने प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सुदर्शन गुप्ता, सांसद शंकर लालवानी, वरिष्ठ नेता बाबूसिंह रघुवंशी, जिलाध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, विधायकगण मालिनी गौड़, रमेश मेंदौला, महेन्द्र हार्डिया, आकाश विजयवर्गीय, मधु वर्मा, उमाशशि शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा, घनश्याम शेर, कमल बाघेला, गणेश गोयल, जेपी मूलचंदानी, अशोक सोमानी,  प्रेमनारायण पटेल, कंचन िंसह चौहान, रवि रावलिया, गोपाल सिंह चौधरी, कमल बाघेला, सुमित मिश्रा, अंजू माखिजा, गोलू शुक्ला, नासीर शाह, मंजूर अहमद, सैम पावरी सहित हजारों कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। गिरफ्तारी के पश्चात् सभी को जिला जेल ले जाया गया।