ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
लखनऊ में एक और हिंदूवादी नेता की सनसनीखेज हत्या
February 2, 2020 • मनोज श्रीवास्तव

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।विश्व हिंदू महासंघ के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन की राजधानी के पॉस इलाके में गोलियों से भून कर हत्या कर दी गयी, साथ गया भाई भी घायल स्थित में ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया। ओसीआर स्थित आवास पर उनसे जुड़े समर्थक ने रोते हुए बताया कि बच्चन सुबह जब मॉर्निंग वॉक पर गये थे, उसी समय सीडीआरआई के पास मोटरसाइकिल से आये हत्यारों ने उन पर तब तक गोली बरसायी जब तक उन्होंने दम नहीं तोड़ दिया। गोली चलाने वाले बदमाश बड़ी आसानी से भाग गये।प्रतिदिन सुबह सीडीआरआई के पार्क में प्रदेश के आला अधिकारियों, नेताओं और शहर के प्रतिष्ठित लोग मॉर्निंग वॉक पर आते हैं।घंटाघर पर सीएए के विरोध में हो रहे धरने और डिफेंस एक्सपो के कारण राजधानी हाईअलर्ट पर है, तमाम रास्तों के डायवर्जन भी है।ऐसे में राज्य के कार्यकारी पुलिस महानिदेशक और कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद पुलिस कमिश्नर को अपराधियों से सीधी चुनौती मिली है। मृतक बच्चन ओसीआर बिल्डिंग के बी-ब्लाक में रहते थे। सुबह जब वह टहलने गये तो उनके साथ आशीष नाम का एक और व्यक्ति था, जिसे उनका भाई बताया जा रहा है। इस घटना में रणजीत के भाई के हाथ में गोली लगी है। पुलिस बच्चन की लाश का पोस्टमार्टम करवा कर जल्द से जल्द अंतिम संस्कार कराने में जुटी है। पत्नी कालिंदी शर्मा बच्चन से कुछ दिन पहले मनमुटाव का मामला पता चला है, जिसके बाद पुलिस उनके पत्नी व परिजनों से पूंछ-तांछ कर रही है। बता दें कि कुछ दिन पहले भी हिन्दूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद राजधानी दहल गयी थी। तब भी पुलिस ने प्रथम दृष्टया जमीनी विवाद का शिगूफा छोड़ कर मामला को दूसरा ऐंगल ठेल दिया था।जबकि कमलेश की हत्या गुजरात के इस्लामी आतंकवादियों ने किया था।

इस संदर्भ में संयुक्त पुलिस आयुक्त नवीन अरोड़ा ने बताया कि आज सुबह आदित्य श्रीवास्तव नामक व्यक्ति ने बताया कि हम अपने मौसेरे भाई रंजीत बच्चन के साथ ओसीआर से जा रहे थे, परिवर्तन चौक के आगे साल ओढ़ कर आये दो लोगों ने पीछे से आकर पिस्टल सटा कर मोबाइल छीन लिया, उसके बाद गोली मार कर चले गये।

आगरा में दोहरा मर्डर कर व लूट करने वाले गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने आठ टीमें गठित किया है। जो विभिन्न कोण से मामले की जांच में जुट गई है।पुलिस सर्विलांस से आस-पास के लोगों का मोबाइल डिटेल और सीसीटीवी के फुटेज भी खंगालने के साथ उनसे जुड़े सभी मामलों की गहन जांच कर रही है।