ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
पार्टी के विरोध में मुख्तार का "छपाक"
January 10, 2020 • राहुल यादव


मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा देश भर में अधिकतर स्थानों व सोशल मीडिया पर आज रिलीज हुई दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक का विरोध करने की खबर गरम रही वहीं लखनऊ आये केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यह कह कर चौंका दिया कि जब उन्हें समय मिलेगा तो वह भी छपाक फ़िल्म को देखना चाहेंगे। नकवी नागरिकता कानून को लेकर भाजपा द्वरा चलाये जा रहे अभियान के तहत लखनऊ आये थे। उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून को लेकर विपक्ष द्वारा जो दुष्प्रचार एक बड़े राजनीतिक षडयंत्र का हिस्सा है। यह कांग्रेस, वामपंथी व अन्य विपक्षी दलों द्वारा आयोजित एक पोलिटिकल पाखंड है। यह लोग एक वर्ग विशेष को भ्रमित कर अपनी राजनीतिक कर रहे हैं, नौजवानों के कंधों पर बंदूक रखकर अशांति फैला रहे हैं।मुख्तार ने सीएए के बारे में कहा कि इसमें कई संशोधन करने के बाद यह बिल लाया गया है। हम चाहते तो जनवरी 2019 में ही इसे पास करा लेते परन्तु तब इस बिल को सेलेक्ट कमेटी को भेजा गया। 7 जनवरी को कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दी और 8 जनवरी को यह बिल लोकसभा में पास होकर राज्यसभा को भेजा गया। राज्यसभा में यह बिल पेंडिंग पड़ा रहा। फिर जब नई सरकार आई तो इसे दोबारा पास किया गया। लोकसभा से दो दो बार पास होने के बाद यह नागरिक संशोधन कानून राज्यसभा से पास हुआ और कानून बना। जो लोग भी इस कानून के नाम पर विरोध कर रहे हैं उन्हें मालूम है कि हिंदुस्तान का कोई नागरिक इस कानून से प्रभावित नहीं होगा, ना कोई हिन्दू ना कोई मुसलमान। इस देश का मुसलमान यहां कम्पलसन से नहीं कमिटमेंट से रहता है। जो ताकतें अपने निजी हितों के लिए उन्हें भ्रमित करना चाहते हैं। वह कामयाब नहीं होंगी। उनके द्वारा जो भ्रम पूर्ण साजिश की जा रही है अब इसका पर्दाफाश भी हो रहा है। नकवी ने कहा कि यह जो कुछ बवाल और देश के नागरिकों का नुकसान हुआ है, यह भ्रम पैदा करने वालों की साजिश के चलते हुआ है। जितने बड़े पैमाने पर लोगों में डर फैलाकर इस कानून के बारे में एक वर्ग को डराया गया इसका अंदाजा नहीं था। फिर भी सरकार ने देश विरोधी ताकतों के द्वारा फैलाये जा रहे भ्रम के खिलाफ कमर कसी और आज देश को पता है कि किसी भारतीय पर इस कानून का कोई प्रभाव नहीं होगा। बता दें कि पिछले महीने नागरिक कानून का विरोध करने वाले कुछ लोगों ने मेरठ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये थे, तो एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने उन लोगों को दौड़ाते हुए संबोधित करते हुए कहा कि खाते यहां का हो गाते पाकिस्तान का हो, तो वहीं चले जाओ। उस घटना पर भी मुख्तार ने एसपी सिटी की निंदा की थी। जिसके कारण मेरठ भाजपा के लोगों ने मुख्तार अब्बास नकवी से नाराजगी व्यक्त किया था।