ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
सैनिक स्कूल में आयोजित एनुअल मीट में पहुचें पूर्व मुख्यमंत्री
November 18, 2019 • धनंजय पाण्डेय/श्रीकांत शाक्य
  • भाजपा पर बोला हमला कहा प्रदेश सरकार लाठी मारकर ले रही किसानों से जमीन
 मैनपुरी।
सोमवार को सूवे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सैनिक स्कूल के एनुअल मीट में पहुंचे। एनुअल मीट में शामिल होने के बाद प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा पर जमकर हमला बोला। और उन्नाव में जमीन अधिग्रहण के चलते किसानों पर किए गए लाठीचार्ज को दुर्भाग्यपूर्ण भी बताया। उन्होंने आगे कहा कि विकास में किसानों की भी हिस्सेदारी होती है। क्योंकि वह अपनी जमीन देते हैं। लाठी मारकर जमीन लेना कौन सी संस्कृति और राष्ट्रवाद है। हमारी सरकार ने भी लखनऊ से आगरा तक एक्सप्रेस वे बनवाया। हमने भी किसानों की जमीन ली। लेकिन उनको उचित मुआवजा दिया। भाजपा सरकार अगर किसानों को उचित मुआवजा नहीं दे सकती है तो वह जमीन वापस कर दे।
आगरा का नाम बदले जाने पर कहा कि यह सरकार कभी नंबर बदलती है तो कभी नाम। सरकार काम कब करेगी कोई हमें बताए। उन्होंने कहा कि आज 100 नंबर डायल करने पर 112 नंबर गाड़ी आती है। एंबुलेंस सेवा बदहाल हो चुकी है। गर्भवती महिलाएं अस्पताल नहीं पहुंच पा रही हैं। भविष्य निधि घोटाले पर कहा कि इस बारे में भाजपा से सवाल पूछे जाने चाहिए। किस दिन आईजीआरएस किस बैंक में हुए सरकार बताए। राम मंदिर के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सभी ने मान लिया है और सभी को मानना चाहिए। 
 
2022 में बनेगी सपा की सरकार
 
भाजपा सरकार से जनता परेशान है। सभी लोग त्रस्त है। युवा सरकार बदलने के लिए तैयार हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव में सपा सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि अमेठी झांसी और मैनपुरी को सैनिक स्कूल की सौगात केंद्र की कांग्रेस सरकार के सहयोग से प्रदेश की सपा सरकार ने ही दिलाई थी।
 
मुलायम की जगह पहुंचे अखिलेश
 
सैनिक स्कूल में सोमवार को एनुअल मीट का आयोजन किया गया था। अखिलेश यादव ने बताया कि बतौर सांसद मुलायम सिंह यादव विद्यालय के सदस्य हैं। इसलिए वह उनके प्रतिनिधि के रूप में यहां आए हैं। हालांकि सैनिक स्कूल परिसर में प्रोटोकॉल के हिसाब से ही लोगों को प्रवेश की अनुमति थी। प्रोटोकॉल में नाम न होने के कारण करहल विधायक सोबरन सिंह यादव सहित अन्य वरिष्ठ सपा नेताओं को प्रवेश नहीं मिल सका।