ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर
संत पूजा का महत्व जानते हैं, रमजान में इबादत के लिए आजम खान को रिहा करें - रामगोविन्द चौधरी
April 24, 2020 • राहुल यादव

लखनऊ। नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर आजम खान,  तजीन फातिमा। एवं अब्दुला आजम को स्वास्थ्य कारणों एवं रमजान के पवित्र माह के चलते यथाशीघ्र रिहा करने की मांग की है। 

रामगोविन्द चौधरी ने कहा कि मो० आजम खान व उनका परिवार गरीबों की सेवा में लगा रहता है । मो० आजम खान व उनकी पत्नी दोनों की तबीयत बहुत ही खराब है । पत्नी का कुल्ले का आपरेशान हुआ था, अव्यवस्था के चलते उसमें ममाद आ गया है। जिससे वे काफी तकलीफ में हैं। जिसके कारण समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी काफी व्यथित हैं। उनकी दवाईयाँ खत्म होने की स्थिति में हैं ।
उन्होंने योगी को संतों का विनम्र आचरण को अंकित करते हुए  कहा कि आप तो स्वंय संत हैं , संत के हृदय में हमेशा दया भाव रहता है तथा आप अपने ईष्ट की आराधना का महत्व भी भली-भांति समझते हैं । वर्तमान में इस्लाम धर्म में सबसे पवित्र महीना रमजान प्रारम्भ हो रहा है। 
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं सांसद मो0 आजम खान, पत्नी  तजीन फातिमा, विधायक एवं पुत्र  अब्दुला आजम, पूर्व विधायक सहित जिला कारागार सीतापुर में निरुद्ध हैं । कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में लगभग हर जनपद के जेलों से कैदी रिहा भी किये गये हैं । 
इसलिए मोo आज़म खान एवं उनके परिवार को स्वास्थ्य कारणों एवं रमजान के पवित्र माह के चलते यथाशीघ्र रिहा करें, ताकि वे अपने धर्म के अनुसार इष्ट की इबादत करने के साथ-साथ इस करोना जैसी महामारी से छुटकारा के लिए भी अल्लाह से इबादत कर सकें । 
गौरतलब है कि मो0 आज़म खाँ नौं (09) बार विधान सभा में सदस्य रहें हैं, कई बार मंत्री रहे हैं, उनकी पत्नी  तजीन फातिमा विधानसभा में सदस्य हैं, पूर्व में राज्य सभा सदस्य रहीं हैं, पुत्र अब्दुला आजम पूर्व विधायक हैं ।