ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
सरकार के छूट रहे पसीने, फिर आया फ्राइडे!
December 26, 2019 • मनोज श्रीवास्तव

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। उत्तर प्रदेश शासन कल के जुमें को शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने के लिए कमर कस ली है, लेकिन खुफिया एजेंसियों ने प्रशासन को जो जानकारी दिया है उससे उनके हाथ-पांव फूल गये हैं। पिछले जुमें को हुई हिंसा में अब तक प्रदेश के विभिन्न जनपदों में विधि विरूद्ध प्रदर्शनों, आगजनी, तोड़फोड़ एवं पुलिस पर फायरिंग आदि की घटनाओं के सन्दर्भ में कुल 327 अभियोग पंजीकृत किये गये हैं, जिनमें 1113 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है एवं 5558 लोगों को हिरासत में लेकर निरोधात्मक कार्यवाही की गयी। आगजनी एवं तोड़फोड़ की घटनाओं में 19 व्यक्तियों की मृत्यु हुयी तथा 288 पुलिसकर्मी घायल हुए, जिनमें 61 पुलिसकर्मी फायर आम्र्स से घायल हुए हैं। घटनास्थलों से 647 नान प्रतिबंधित बोर (315 बोर, 12 बोर) के खोखा कारतूस, 69 जीवित कारतूस व 35 अवैध तमंचें भी बरामद हुए। जनपद सम्भल में 20 दिसंबर को अपराध शाखा के निरीक्षक की पिस्टल भी उपद्रवियों द्वारा छीन ली है। इस समय प्रदेश की स्थिति सामान्य हैं तथा स्थिति पर सतर्क दृष्टि रखी जा रही है।नागरिक कानून के विरोध में सोशल मीडिया पर किये गये आपत्तिजनक,भ्रामक पोस्टों,मैसेज पर प्रदेश में अब तक कुल 93 अभियोग पंजीकृत कर 124 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। कुल 19409 सोशल मीडिया पोस्टों के विरूद्ध कार्यवाही की गयी, जिसमें 9372 ट्विटर पोस्टों, 9856 फेसबुक व 181 यूट्यूब एवं अन्य प्रोफाइल पोस्टों को रिपोर्ट कर विधिक कार्यवाही की जा रही है। कल जुमें की नमाज के बाद शांति व्यवस्था बनी रहे इसके लिए खबर लिखे जाने तक खुफिया रिपोर्ट के आधार पर आधा दर्जन जिलों के इंटरनेट 36  घंटे के लिए काट दिये हैं। आगरा, मथुरा, सहारनपुर, बिजनौर, सीतापुर के अलावा कल तक कई अन्य जिलों का इण्टरनेट कनेक्शन कट सकता है। जिन जिलों में पिछले जुमें को भारी उत्पात हुए थे वहां ड्रोन कैमरों से नजर रखी जा रही है।छतों पर इकट्ठा रखे गये ईंट-पत्थर हटवाये गये। एडीजी मेरठ प्रभात कुमार ने सहारनपुर से गाजियाबाद तक रात्रि गस्त बढ़ा दी है। पश्चिम के पुलिस अधीक्षकों को संबोधित करते हुए कहा है कि जनता शांति से सो सके इस लिए आप लोग रात में जगते रहिये। आगरा में आईजी ए सतीश गणेश स्वयं तंग गलियों में जाकर लोगों को समझा रहे हैं। सतीश गणेश के नेतृव में उनके कई दरोगा वेश बदल कर मस्जिदों गलियों में घूमे थे, इस लिए आगरा में शांति बनी रही। उनकी इस स्टाइल और इस काम मे जान की परवाह किये बगैर कूदने वाले जांबाज पुलिस वालों की बहुत प्रसंसा हुई। सभी जिलों में उत्पात मचाने वालों के पोस्टर जारी किए गए हैं। कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने यह कह कर चौंका दिया है कि पिछले सप्ताह बाबूपुरवा थाने में हुए उपद्रव में पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के लोग शामिल थे। लखनऊ में भी गिरफ्तार किए गए आधा दर्जन उपद्रवी पश्चिम बंगाल के निकले। मेरठ में दिल्ली के व्यक्ति की मौत हुई थी। इस बार जुमें के साथ स्थायी शांति बनाने के लिए योगी सरकार नागरिक कानून को समझाने के लिए मुस्लिम मुहल्लों में हिंदी और उर्दू के पर्चे भी बांटी है।मुस्लिम धर्मगुरुओं और महिलाओं को अलग-अलग समझाने की कोशिश हुई है। प्रशासन की कसरत मूल्यांकन कल जुमें की शांतिपूर्ण नमाज सम्पन्न होने के बाद की जाएगी।इस संदर्भ में आईजी कानून व्यवस्था प्रवीण कुमार ने कहा कि हमारी तैयारी है कि पूरे प्रदेश में शांतिपूर्ण परिवेश में सभी कार्यक्रम सम्पन्न हों। ऐहितिहातन कुछ जिलों में फ्लैगमार्च किये गये हैं। किसी प्रकार के अफवाह से कोई बवाल न हो इस लिए कई संवेदनशील जिलों की इंटरनेट सेवा कुछ घण्टों के लिए काट दी गयी है। चिन्हित जिलों में स्थानीय लोगों के सहयोग से संदिग्ध लोगों पर कड़ीं नजर रखी जा रही है।