ALL लखनऊ प्रयागराज आगरा कानपुर बस्ती भोपाल पटना हाजीपुर झाँसी
यूपी के तीन स्थानों पर गोलियों की तड़तड़ाहट में 8 की मौत
January 5, 2020 • मनोज श्रीवास्तव
  • गोलीबारी का रविवार!

मृतक राम मेहर वैद की फोटो

 लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अलग-अलग पुलिस जोनों तीन जगह गोलियों की तड़तड़ाहट में 9लोग मारे गये। प्रयागराज के सोरांव में एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या कर दी गयी।प्राप्त जानकारी के अनुसार सोरांव थाना क्षेत्र के यूसुफपुर गांव में रविवार की सुबह एक ही परिवार के 5 लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी गई। जब पड़ोसियों इसकी सूचना डायल 112 पर दी तब इस  वारदात की जानकारी पुलिस के आला अफसरों को हुई। घटना की जानकारी होते ही एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज समेत आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मरने वालों में एक महिला दो बच्चे और दो पुरुष हैं।मृतकों के नाम विजय शंकर तिवारी 65 वर्ष,बेटा अभिलाष तिवारी, सोनू तिवारी 30 वर्ष पुत्र विजय शंकर तिवारी, तीसरा सोनी तिवारी 28 वर्ष पत्नी सोनू तिवारी, चौथा कान्हा तिवारी 7 वर्ष पुत्र सोनू तिवारी पांचवा कुंज कुंज तिवारी 5 वर्ष पुत्र सोनू तिवारी है। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिये पुलिस की कई टीमें बना कर दबिश शुरू कर दी गयी है। प्रथम दृष्टया हत्या में आपसी रंजिश में किसी परिचित के शामिल होने की बात आ रही है। पुलिस अपने ढंग से जांच कर रही है जल्द ही हत्यारों तक पुलिस पहुंच जाएगी। दूसरी घटना बुंदेलखंड के ललितपुर जिले की है। ललितपुर में चचेरे भाई ने भाई और भाभी को गोली मार के हत्या कर दिया।प्राप्त विवरण के अनुसार सदर कोतवाली अंतर्गत स्टेशन रोड स्थित घर में भाई और भाभी को चचेरे भाई ने गोली से उड़ा दिया। पुलिस ने  हत्यारोपित को हिरासत में ले लिया है। मूल रूप से थाना जाखलौन अंतर्गत गांव ऐरा निवासी राम आसरे व उनकी पत्नी सुनीता स्टेशन रोड पर निवास करते थे। रविवार सुबह चचेरे भाई भरत पटेल से बातचीत के दौरान दोनों कहासुनी होने लगी। इस बीच भरत ने अपने भाई  पर कट्टे से फायर झोंक दिया। आवाज सुनकर राम आसरे की पत्नी दौड़कर आई और देवर से विरोध जताया। इस बीच भरत ने भाभी सुनीता को भी गोली मार दी, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।जानकारी मिलते ही कोतवाली सदर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का जायजा लेकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आरोपित को भी हिरासत में ले लिया गया है।बता दें कि आरोपी भरत पटेल और मृतक रामआसरे अन्य परिजनों के साथ आगरा कारागार में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं। पांच दिसंबर को दोनों भाई पैरोल पर आये थे। सोमवार को पैरोल समाप्त हो रही थी और भरत जेल जाने के बजाय फरार होने के  लिये राम आसरे पर दबाव बना रहा था जबकि राम आसरे नियमानुसार वापस जेल जाने के लिए कह रहा था। बस इसी बात पर दोनों का विवाद हुआ और यह घटना घटित हो गई। तीसरी घटना बाराबंकी जिले की है। जहां गोलियों की तड़तड़ाहट से रामसनेही घाट तहसील परिसर गूंज गया। चश्मदीदों के अनुसार "तहसील रामसनेही घाट परिसर व उप जिलाधिकारी कार्यालय के ठीक सामने दिन दहाड़े गोलियों से दहल उठा। जब तक लोग कुछ समझ पाते वहां पहुंचे तब तक दो व्यक्ति गंभीर रूप से घायल होकर गिर चुकेे थे। एक व्यक्ति की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी थी।दूसरे व्यक्ति की बाराबंकी जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने इलाज शुरू कर दिया है लेकिन उसकी भी हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने बताया कि मरने वाले का नाम नाम राम मेहर शर्मा है, वह पेशे से वैद था। दूसरा जो व्यक्ति घायल है उसका नाम प्रेम शर्मा है। पुलिस की सुरक्षा में जिसका इलाज बाराबंकी जिला चिकित्सालय में हो रहा है। गोली चलाने वाले ग्रीन इनोवा एच आर 72 बी 1919 से आये थे। आरोपी घटना को अंजाम देकर आराम से फरार हो गये।